आजकल के कई युवा गवर्नमेंट जॉब पाना चाहते हैं इसका कारण यह है कि सरकारी नौकरी में आपको job security और आपको रिटायरमेंट के बाद पेंशन मिलती है लेकिन प्राइवेट जॉब में आपको रिटायरमेंट के बाद पेंशन नहीं मिलती है लेकिन आप चाहे तो आपको पेंशन मिल सकती है इसके लिए आपको NPS मैं पैसा इन्वेस्ट करना होगा. आज आज की इस आर्टिकल में हम आपको बताएंगे एनपीएस क्या है एनपीएस में आप अपना पैसा किस प्रकार इन्वेस्ट कर सकते हैं NPS से जुड़ी सारी जानकारियों के लिए इस आर्टिकल को पूरा जरूर पढ़े.
राष्ट्रीय पेंशन योजना क्या है पूरी जानकारी

 NPS क्या है ?

NPS का  पूरा नाम राष्ट्रीय पेंशन योजना (national pension scheme)  हैं। राष्ट्रीय पेंशन योजना एक सरकारी योजना है ।NPS में आपको हर महीने कुछ रकम जमा करनी पड़ती है और बाद में ये रकम आपको पेंशन के रूप में मिलती हैं । अगर आप चाहते हैं कि आपकी रिटायरमेंट के बाद आर्थिक स्थिति सही रहे तो आप इसमें पैसे इन्वेस्ट कर सकते हैं।

NPS अकाउंट कितने तरह  के होते हैं

NPS ( राष्ट्रीय पेंशन योजना) चार तरह के होते हैं लेकिन इनमें ज्यादा अंतर नहीं होता हैं।

1: केंद्रीय सरकारी(central government )कर्मचारी के लिए
 
2: राज्य सरकारी (state government)कर्मचारियों के लिए

3: व्यवसायिक क्षेत्र(corporate sector) = निजी क्षेत्र (private sector) के कर्मचारियों के लिए

4: All citizens model = अगर आप अपने लिए खुद एनपीएस अकाउंट खोलते हैं तो

NPS से अकाउंट कैसे खोलें

राष्ट्रीय पेंशन योजना (NPS) में अपना झअकाउंट 3 तरीकों से बना 
सकते हैं

1: आप प्राइवेट संस्थान या गवर्नमेंट संस्थान में जॉब करते हैं तो आप अपने एम्पलाय को बोलकर अपना  NPS ( राष्ट्रीय पेंशन योजना) अकाउंट खोल सकते हैं।

2: अगर आप कोई छोटा मोटा बिजनेस कर रहे हैं तो आप सीधे बैंक में जाकर अपना NPS ( राष्ट्रीय पेंशन योजना )अकाउंट खोल सकते हैं

3: अगर आप स्वयं अपने एनपीएस अकाउंट घर बैठे खोलना चाहते हैं तो आपको enps की ऑफिशियल वेबसाइट https://enps.nsdl.com/eNPS/NationalPensionSystem.html    मैं जाकर अपना एनपीएस अकाउंट खोल सकते हैं जहां आपको अपना पैन कार्ड ,बैंक डिटेल्स, और आधार कार्ड  की जरूरत पडेगी।

एक व्यक्ति अपने कितने NPS अकाउंट खोल सकता है?

एक व्यक्ति अपने नाम से एक ही एनपीएस अकाउंट खोल सकता है अगर आप अपना दूसरा एनपीएस अकाउंट खोलना चाहते हैं तो आपको अपना पहला एनपीएस से अकाउंट बंद करना पड़ेगा क्योंकि जब आप अपना पहला nps अकाउंट खोलते हैं उस वक्त आपको PRAN नंबर मिलता है जिसमें आपकी पूरी जानकारी रहती है।

PRAN नंबर क्या होता है

PRAN का पूरा नाम Permanent retirement account number (स्थायी सेवानिवृत्ति खाता संख्या) होता हैं । PRAN  एक व्यक्ति का एक ही होता है जिस प्रकार से आपका पैन कार्ड जो होता है पैन कार्ड की संख्या के द्वारा आप की पूरी जानकारी निकल जाती है वैसे ही PRAN यह पता चल जाता है कि आपने कितनी बार पैसा इन्वेस्ट करा है. वैसे अगर आपने जॉब छोड़ दी और आप दूसरी जगह लग गए तो आपको अपना एनपीएस अकाउंट नया खोलने की आवश्यकता नहीं होती है आप अपना PRAN दूसरी जगह शिफ्ट कर सकते हैं।


NPS अकाउंट में टियर 1 और टियर 2 का क्या मतलब है
  
टियर 1 और टियर 2 एनपीएस अकाउंट के प्रकार होते हैं टियर 1 अकाउंट रिटायरमेंट प्लान है जिसमें आपको थोड़ा थोड़ा पैसा हर महीने निवेश करना पड़ता है लेकिन टियर 2 एक तरीके का म्युचुअल फंड अकाउंट है इसमें आप जब चाहे पैसे निकाल सकते हैं और इन विकल्पों को चुन सकते हैं
1: आप सरकारी bonds (G)

2: आप कार्पोरेट bonds (c)

3: इक्विटी फण्ड (E)

NPS अकाउंट से पैसे आप कब निकाल सकते हैं

अगर आपने टियर 1 खाता खुलवा रखा है तो आपकी उम्र 60 साल यानी रिटायरमेंट होने के बाद आपको हर महीने एनपीएस टीयर1का लाभ मिलेगा। इस योजना के तहत आपने nps टीयर1अकाउंट में जितना भी पैसा इकट्ठा करा है उसका 60% आप निकाल सकते हैं लेकिन 40% आपको  छोड़ना पड़ेगा । इस 40% पर मिलने वाला ब्याज आपको पेंशन के रूप में मिलता है।

अगर आप रिटायरमेंट से पहले पैसे निकालना चाहते हैं तो कुछ विशेष परिस्थितियों में आप पैसे निकाल सकते हैं जैसे = बीमारियों की दवाइयां लेने के लिए, बच्चों की पढ़ाई के लिए घर खरीदने के लिए कुछ पैसे निकाल सकते है

राष्ट्रीय पेंशन योजना (NPS) का किस तरह लाभ मिलता है

राष्ट्रीय सेवा योजना में हर महीने अपनी सैलरी की कुछ निश्चित रकम आपको एनपीएस अकाउंट में जमा करनी पड़ती है. उसके बाद जब आपकी उम्र 60 साल हो जाने के बाद ब्याज सहित यह देखा जाता है कि आपने कितना पैसा जमा किया और आप 60% निकाल रहे हैं या नहीं अगर आप नहीं निकाल रहे हैं तो आप 60 साल उम्र के बाद भी जमा करके रख सकते हैं और आपकी आप की जमा राशि पर सालाना ब्याज किया जाता है जो आपकी पेशन के रूप में होती आप चाहे तो इसे एक बार में निकाल सकते हैं या आप मासिक किश्ते  बना सकते हैं ये आप पर निर्भर करता है।
NPS कैसे काम करता है किसके लिए हम एक उदाहरण लेते हैं। हम मान लेते हैं हिमांशु नाम का एक व्यक्ति है जिसने अपनी 60 की उम्र तक 10 लाख रुपया इकट्ठ करें और उसने पूरा पैसा पेंशन के लिए रखा और उसके एनपीएस अकाउंट में साल  6 % का ब्याज मिला । तो 10 लाख का 6 %  होता है 60,000  की रकम है आप चाहे साल एक बार में   60000 ले सकते हैं। या फिर हर महीने 5000 रुपए ले सकते हैं

NPS अकाउंट का बैलेंस चेक कैसे करें

1: सबसे पहले आपको प्ले स्टोर में जाना है वहां से nps by  nsdL el-gov ऐप इंस्टॉल करना है

2:इंस्टॉल हो जाने के बाद आपको ऐप को ओपन करना है। उसके बाद आपको लॉगिन के ऑप्शन में क्लिक करना है
उसके बाद आपको अपना PRAN और पासवर्ड डालना है जब आपने nps अकाउंट बनाया होगा तब आपके मोबाइल में पासवर्ड आया होगा उसे आपको डालना है और लॉक इन के ऑप्शन में क्लिक करना है
इसके बाद आपको nps account बैलेंस आपको दिख जाएगा. 

NPS अकाउंट का पासवर्ड कैसे जनरेट करें

1:NPS अकाउंट का पासवर्ड के जनरेट करने के लिए आपको गूगल में सर्च करना होगा NPS -NSDL ( NSDL full form =  securities deposnationalitory limited और हिंदी में इसको राष्ट्रीय प्रतिभूतियां भंडार समिति कहते हैं )

2:NSDL की ऑफिशियल वेबसाइट मै जाकर
https://www.npscra.nsdl.co.in/   अपने एनपीएस अकाउंट का password जनरेट कर सकतेे हैं

3:वेबसाइट ओपन होने के बाद  important links का ऑप्शन मिलेगा नीचे को जाने पर आपको generate password  का एक ऑप्शन मिलेगा उसमें क्लिक करना है

4:उसके बाद reset opinion via के सामने आपको दो ऑप्शन मिलेंगे 

5:पहला ऑप्शन होगा Nodal office 

दूसरा ऑप्शन होगा generate OTP = अगर आपने अपने एनपीएस अकाउंट में अपना मोबाइल नंबर या ईमेल आईडी दे रखा है तो आप इस ऑप्शन चैक बॉक्स में टिक  करे।

6:उसके बाद आपको अपना PRAN, DoB (जन्मतिथि)  new password , conifirm password,  revive OTP via के सामने आपको दो ऑप्शन मिलेंगे SMS और ईमेल आईडी आपने अपना एनपीएस अकाउंट बनाते वक्त अगर ईमेल दे रखा है तो आप ईमेल के ऑप्शन में  टिक करें। और अगर मोबाइल नंबर दे रखा है तो सिम के ऑप्शन में  टिक करे।

7: इसके बाद आपको Enter captcha भरना है और summit के ऑप्शन में क्लिक करना है और आपका पासवर्ड जनरेट हो जाएगा.

8:अगर आपने अपना ईमेल आईडी और पासवर्ड एंड प्लस अकाउंट बनाते वक्त नहीं दिया तो आप Nodal office के चेक चेक बक्स ऑप्शन में टिक करे।

9:इसके बाद आपको PRAN, DOB ( जन्मतिथि) new password  ,conifirm password, enter captcha भरे और summit के ऑप्शन में क्लिक करें. 

10: उसके बाद आपको acknowledgement number मिलेगा इसके बाद आप को प्रार्थना पत्र लिखना है Nodal office को। अगर आपने खुद एनपीएस अकाउंट खोल रखा है। यहां अपने किसी बैंक के माध्यम से खोल रखा है तो आप को बैंक जाकर अपनी एप्लीकेशन को जमा करना पड़ेगा। उसके बाद acknowledgement no के माध्यम से आप का नया पासवर्ड आप जाएगा और आप अपना एनपीएस अकाउंट दोबारा खोल सकते हैं।

दोस्तों आपको हमारी यह जानकारी कैसी लगी कमेंट करके अवश्य बताएं यदि आपके पास कोई सवाल है तो अपना ही करके पूछ सकते हैं