नमस्कार दोस्तों। Best My Smart Tips Blog में आपका स्वागत है आज हर कोई व्यक्ति एक अच्छी नौकरी पाने के लिए बहुत संघर्ष करता है लेकिन कई व्यक्तियों को उनके काबिलियत के अनुसार नौकरी नहीं मिलती है लेकिन आज के युवा बेरोजगार नहीं बैठना चाहते हैं आज कई लोग यूट्यूब चैनल बनाकर को खूब सारा पैसा कमा रहे हैं और अपनी लोकप्रियता बढ़ा रहे हैं

CSS kya hai

और जो लोगों को यूट्यूब चैनल नहीं बनाना चाहते हैं वह वेबसाइट बनाकर पैसा कमा रहे हैं लेकिन वेबसाइट बनाने के लिए जिस विषय का ज्ञान होना चाहिए वह कई व्यक्तियों को नहीं पता जिस कारण से वह अपनी वेबसाइट या ब्लॉग से पैसे नहीं कमा पाते हैं एक वेबसाइट बनाने के लिए व्यक्तियों को HTML, Java, CSS ,PHP प्रोग्रामिंग भाषाओं का ज्ञान होना अति आवश्यक है हमने आपको Java और HTML तथा PHP प्रोग्रामिंग भाषा के बारे में जानकारी दे दी है अगर आप कंप्यूटर के छात्र हैं तो आप इन विषयों के बारे में अच्छे से जानते होंगे आज के इस लेख में CSS भाषा के बारे में पूरी जानकारी देने वाले हैं इसके फायदे क्या है और और CSS होता क्या है अगर आपको उसके बारे में पूरी जानकारी चाहिए तो आप इस लेख को पूरा जरूर पढ़ें और अधिक से अधिक लोगों तक शेयर करें ताकि अन्य लोगों को भी इस प्रोग्रामिंग भाषा के बारे में जानकारी मिल पाये।

HTML और HTML5 क्या हैं ?

PHP language क्या होती है और इसका इस्तेमाल कहां किया जाता है ?।

गूगल सर्च इंजन में ब्लॉग रैकं कैसे बढाये

वेब ब्राउज़र क्या है ?

SEO क्या हैं ?अपने blog में इसका इस्तेमाल कैसे करें

CSS क्या हैं ?

CSS का पूरा नाम कैस्केंडिग स्टाइल शीट (Cascading style sheet) है एक वेब पेज बनाने के  टेक्नोलॉजी के पीछे Hyper text markup language (HTML) और कैस्केंडिग स्टाइल शीट (CSS) आप बहुत हाथ हैं Hyper text markup language (HTML) के उपयोग वेब पेज को एक आकार लेता है और कैस्केंडिग स्टाइल शीट (CSS) वेब पेज को एक नया आकर्षण रूप देने का काम करता है.Hyper text markup language (HTML) और कैस्केंडिग स्टाइल शीट (CSS) हमेशा एक साथ उपयोग किए जाते हैं। लेकिन  HTML  (Hyper text markup language) के बिना कैस्केंडिग स्टाइल शीट (CSS) का उपयोग नहीं किया जा सकता है Hyper text markup language (HTML)और Cascading style sheet (CSS)  एक कंप्यूटर भाषा हैं यह कंप्यूटर की लैंग्वेज बहुत आसान है इसे आप आसानी से सीख सकते हैं । Hyper text markup language (HTML) और  Cascading style sheet (CSS) के कोडो  को लिखने के लिए हमें एक पाठ सम्पादित्र (text editor) आवश्यकता पड़ती है जैसे = नोटपैड। इन कोडो को लिखने के बाद इस इंटरनेट के जरिए देखने के लिए बेव ब्राउज़र की आवश्यकता होती है

Hyper text markup language (HTML) में बहुत टैग का उपयोग किया जाता है जैसे =header tag = <h1>, font tag= <font>, table tag =<table>, image tag= <img> इत्यादि । इन सभी टैग को ब्राउज़र में और अच्छी तरह दिखाने के लिए Cascading style sheet (CSS) का उपयोग साथ में किया जाता है Cascading style sheet (CSS) का उपयोग से हम वेबपेज एक टेक्स को अच्छे रंग में दिखा सकते हैं फोंट्स के स्टाइल्स पैराग्राफ की बीच स्थान (space)  को नियंत्रित (control) कर सकते हैं पृष्ठभूमि (बैकग्राउंड) के इमेज को और पृष्ठभूमि (बैकग्राउंड) में  कौन से रंग की उपयोग से बेवपेज को अच्छा रूप मिलेगा ये सभी चीजें सेट करने के लिए  Cascading style sheet (CSS) का उपयोग किया जाता है।

कैस्केंडिग स्टाइल शीट (CSS) कि फायदे क्या क्या है

कैस्केंडिग स्टाइल शीट (CSS) कोई फायदा नीचे हमने आपको बता रखे हैं

1: कैस्केंडिग स्टाइल शीट (CSS) वक्त को बचाता है

एक Hyper text markup language (HTML)  के बेवपेज  में इस्तेमाल किए गए स्टाइल को हम बहुत सारे  वेबपेज में उपयोग कर सकते हैं वो भी कैस्केंडिग स्टाइल शीट (CSS) के कोड को फिर एक बार लिखकर। हमको अलग अलग से पेज बनाने के लिए कैस्केंडिग स्टाइल शीट (CSS)  का कोड नहीं लिखना पड़ेगा और मात्र एक बार लिखे हुए कैस्केंडिग स्टाइल शीट (CSS) कोड  करके  उपयोग करके हम जितने चाहे उतने वेब पेज बना सकते हैं जिसमें हमारा काफी समय बच जाता हैं।

2: पेज को जल्दी लोड होने में सहायता करता है

अगर हम अपनी वेबपेज में कैस्केंडिग स्टाइल शीट (CSS)  का   उपयोग करते हैं तो हमें Hyper text markup language (HTML) के टैग के गुण (attributes) को बार-बार लिखने की आवश्यकता नहीं पड़ती है . बस मात्र एक बार कैस्केंडिग स्टाइल शीट (CSS)   नियम  के हिसाब से टैग के गुण (attributes) को लेकर वेब पेज में लागू कर देने से वो टैग हर स्थान पर दिखने के लिए बार-बार एक ही कोड को नहीं लिखना पड़ेगा और अगर कोड की संख्या कम होगी पूरे पेज की लोडिंग क्षमता बढ जाएगी।

3: मेन्टेन करना बहुत आसान है

बेवपेज के बनावट (style) को पूरी तरह परिवर्तित करने के लिए मात्र एक बार कैस्केंडिग स्टाइल शीट (CSS) कोड को परिवर्तन  से Hyper text markup language (HTML) में इस्तेमाल किए गए सभी तत्व (elements) अपने आप ही में परिवर्तित हो जाएंगे

4: कैस्केंडिग स्टाइल शीट (CSS) का  Platform independent हैं 

Platform independent का अर्थ है कैस्केंडिग स्टाइल शीट (CSS) का उपयोग हम किसी भी प्लेटफार्म में कर सकते हैं जैसे = Linux, windows, इत्यादि और ये सभी लेटेस्ट ब्राउज़र को भी सहयोग करता हैं।

मेरी अंतिम राय इस लेख पर

दोस्तों को उम्मीद करता हूं कि आपको यह आर्टिकल अच्छा लगा होगा अगर आपके पास कोई सवाल है तो तो आप हमसे बेझिझक होकर अपने सवाल पूछ सकते हैं और अधिक से अधिक लोगों को यह लेख शेयर करें क्या क्यों नहीं भी बहुत सरल कैस्केंडिग स्टाइल शीट (CSS) समझ आ जाए और अगर हमसे इस लेख में कोई त्रुटि हो गई हो तो हमें क्षमा करें.