नमस्कार दोस्तों ! Best My Smart Tips Blog में आपका स्वागत है आज के वक्त में कई लोगों को गूगल एड्स और गूगल ऐडसेंस में अंतर पता नहीं है और कई लोग यह भी सोचते हैं कि गूगल ऐडसेंस और गूगल एड्स एक ही चीज है लेकिन ऐसा नहीं यह दोनों अलग-अलग चीजें हैं अगर आप की एक वेबसाइट है या एक यूट्यूब चैनल है तो आपको इन दोनों विषयों के ऊपर जानकारी होना बहुत ही जरूरी है 

Google AdSense और GOOGLE AdS क्या अंतर है

अगर आपको इन दोनों विषयों के ऊपर जानकारी होना बहुत जरूरी है अगर आपको इन दोनों विषयों के ऊपर जानकारी प्राप्त नहीं होगी तो आप अभी भी ऑनलाइन माध्यम से पैसे नहीं कमा सकते है हमने अपने इस आर्टिकल में आपको बहुत ही सरल भाषा में Google ads और Google AdSense  में अंतर बता रखा है इन दोनों में अंतर बताने के साथ-साथ हमने आपको गूगल एड्स अकाउंट में अकाउंट कैसे बनाते हैं? इसके ऊपर भी जानकारी दे रखी है आप हमारे इस आर्टिकल को पढ़कर इन दोनों विषयों के ऊपर जानकारी प्राप्त कर सकते हैं ?और हमारे इस आर्टिकल को अधिक से अधिक लोगों को शेयर करें ताकि जो लोग गूगल ऐडसेंस और गूगल  एड्स बारे में नहीं जानते हैं उन्हें जानकारी नहीं है वह हमारी इस आर्टिकल को पढ़कर इन दोनों विषयों के ऊपर समस्त जानकारी प्राप्त कर सकें और आसानी से ऑनलाइन माध्यम से पैसे कमा सकें

Google Ads क्या हैं ?

Google Ads का नाम 24 जुलाई 2018 से पहले Google adword हुआ करता था लेकिन Google ने 24 जुलाई 2018 के बाद Google adword का नाम बदलकर Google ads कर दिया । GOOGLE की आय का मुख्य स्रोत Google ads है। साल 2010 में  Google ads से 28 billion dollars कमाई हुई थी और यह आए लगातार बढ़ती जा रही है.

Google ads एक Online Advertising services हैं।Google ads की मदद से Blogger अपने product या सर्विस (service) के ads लोगों तक पहुंचा सकते हैं और अपने बिजनेस का  विज्ञापन दे सकते हैं । गूगल के द्वारा Google ads पर per click cost (PPC) , click per thousand (CPT) ,text ,banner,video ads आदि विज्ञापनों की सुविधाएं दी जाती है आप अपनी सेवाओं और उत्पादों का advertisement  बहुत आसानी से  GOOGLE AdS  अपने बजट के अनुसार कर सकते हैं आप अपने विज्ञापन को यूट्यूब चैनल में लोगों के ब्लॉग में वेबसाइट और search engine कहीं भी दिखा सकते हैं

Admob क्या है ?Admob से पैसे कैसे कमाए

Jio Phone से ऑनलाइन पैसे कैसे कमाए ?

एक सफल ब्लॉगर बनने के 21 टिप्स

ब्लॉगिंग की महत्वपूर्ण सेटिंग के बारे में जाने

बैकलिंक क्या है और क्वालिटी बैकलिंक कैसे बनाये ?

2:गूगल एड्स में विज्ञापन चलाते वक्त आपको इन बातों का ध्यान रखना होगा

A:Keyword 

Google ads के माध्यम से ad कैंपन बनाते वक्त  आपको keyword का बहुत ध्यान रखना है आप अकेले नहीं है जिसने कि Google ads को विज्ञापन चलाने के लिए पैसे दिए हैं  बहुत सरल भाषा में कहें तो आपके प्रोडक्ट जैसे मार्केट में कई सारे प्रोडक्ट उपलब्ध है और वे भी आप ही की तरह google ads के माध्यम से विज्ञापन चला रहे हैं.

इसलिए आपको सामान्य competition (काॅम्पीटीशन) को हराने के लिए आपको high वाॅल्यूम कीवर्ड की जरूरत होगी ताकि आपका प्रोडक्ट गूगल किस सर्च इंजन में टॉप में आ सके .

B:Landing page(लैंडिंग पृष्ठ)

अगर आप चाहते हैं कि आपने जो ads कैंपन चलाया है उसे ज्यादा लोग देखें और आपकी वेबसाइट में आए और आपको ज्यादा प्रॉफिट हो तो आपको अपनी वेबसाइट या blog का landing page को  attractive (आकर्षण) बनाना पड़ेगा.

आपको हम बता देते हैं जब आपके द्वारा चलाए गए ऐड में कोई यूजर क्लिक करता है और वह जिस पेज में जाएगा उसे landing page कहा जाता है इसीलिए आप अपने landing page को आकर्षित बनाइए क्योंकि यूजर जितनी देर आप की वेबसाइट में रुकेगा आपके प्रोडक्ट सेल होने के चांस ज्यादा बढ़ जाते हैं.

C:लोकेशन (location)

 Location हिसाब से आप अपने विज्ञापन सकते हैं। ad कैंपन चलाते वक्त आपको लोकेशन का बहुत ध्यान देना होगा। आप जिस भी एरिया में अपने विज्ञापन देखना चाहते हैं वहां की लोकेशन सिलेक्ट करें

D:बजट (bugget)

Ad कैंपन शुरू करने से पहले आप यह सोच ले कि आपको अपना विज्ञापन कितने दिनों तक चलाना है और आपका क्या बजट है

E:Ad design 

जब आप गूगल एड्स में कोई विज्ञापन बनाते हैं जैसे की search ad ,display ad आदि हमें ऐड डिजाइन पर ध्यान देना होगा और आपका ad रिलेवेट होना चाहिए और उसमें डिस्ट्रक्शन और टाइटल आकर्षण(attractive) होने के साथ-साथ actionable होना चाहिए क्योंकि कोई भी व्यक्ति अगर आपके ads को देखता है तो वह आपके ads को क्लिक किए बिना ना जाए.

3:चलिए अब बात करते हैं गूगल एड्स कैसे काम करता है

गूगल एड्स में पांच प्रकार के ऐड कैंपन होते हैं जो निम्न प्रकार से हैं

search ऐड कैंपन क्या है

Search ऐड कैंपन के द्वारा हम Ads को गूगल के सर्च इंजन में रिजल्ट पेज दिखाते हैं ।search Ads कैंपन तैयार करने के लिए हमे high keyword को टारगेट करना पड़ता है क्योंकि जब कोई व्यक्ति हमारे ऐड से संबंधित keyword  सर्च करेगा तो गूगल के सर्च इंजन में टॉप में हमारी वेबसाइट आएगी और व्यक्ति हमारी वेबसाइट में विजिट करेगा.

Display ads compain  क्या है

Display ads compain ऑनलाइन paid विज्ञापन का ऐसा तरीका है display ads के जरिए कंपनी किसी और की वेबसाइट पर अपने विज्ञापनों को दिखाती है और अपने प्रोडक्ट को प्रमोट करती है display ads में ज्यादातर बैनर ,text ads , एनिमेशन ads द्वारा मार्केटिंग की जाती है इस  कैंपन  के जरिए किसी दूसरे की वेबसाइट ब्लॉग में अपने ऐड दिखा सकते हैं

Display ads का सबसे अच्छा फायदा यह है कि आप इसमें रीमार्केटिंग कर सकते हैं इसका मतलब  है  कोई युजर आप पर विज्ञापन में क्लिक करके आपकी वेबसाइट में आता है लेकिन युजर  purchase नहीं कर रहा है तो आप उस यूजर को अपनी कंपनी के विज्ञापन बार-बार दिखा सकते हैं चाहे वह यूजर प्लेटफार्म यूज कर रहा हो या फिर नहीं कर रहा हैं । जैसे कि फेसबुक ,टि्वटर ,इंस्टाग्राम आदि।

Shopping ads  comapaign क्या है

इसके जरिए आपके बिजनेस की पूरी जानकारी गूगल सर्च रिजल्ट दिखा सकते हैं जैसे कि आपके प्रोडक्ट से संबंधित इमेज और उसका प्राइस ।

Video ads comapaign क्या है

Video ads compain ऑनलाइन paid विज्ञापन का ऐसा तरीका है . जिसकी मदद से आप अपने प्रोडक्ट की वीडियो बनाकर यूट्यूब में दिखा सकते हैं आपके प्रोडक्ट के बारे में ज्यादा से ज्यादा लोगों को पता चलेगा. 

4 :Mobile app comapaign क्या है

मोबाइल app कैंपन द्वारा आप मोबाइल के एप्स में अपने विज्ञापनों को दिखाते हैं जैसे कि आप ने गेम खेलते वक्त, गाना सुनते वक्त अपने मोबाइल में विज्ञापन आते हुए देखा । ये सभी mobile app ads होते हैं इसी प्रकार आप भी अपने विज्ञापनों को मोबाइल एप्स में दिखा सकते हैं.

5:अपना अकाउंट कैसे बना सकते हैं आप Google ads में।

हम आपको step by step बताएंगे आप अपना खाता google ads कैसे बना सकते हैं 

1: सबसे पहले आपको गूगल में सर्च करना है Google ads। या इस वेबसाइट में क्लिक करें Google ads ।

2: वेबसाइट में क्लिक करने के बाद आपको start now के बटन में क्लिक करना है उसके बाद आपको अपनी ईमेल आईडी से sign up करना होगा ।

3: साइन अप करने के बाद आपसे पूछा जाएगा आपके विज्ञापन का लक्ष्य क्या है ( what is  your main advertising goal ?) आपको अपने हिसाब से किसी भी ऑप्शन को सिलेक्ट करके next के ऑप्शन में क्लिक करें

4: इसके बाद आपसे बिजनेस संबंधित कुछ डिटेल्स मांगी जाएंगी जैसे आपके बिजनेस का नाम और आपके बिजनेस की वेबसाइट । डिटेल जो को भरने के बाद आपको next के ऑप्शन में क्लिक करना है.

5: इसके बाद आपसे आपका मोबाइल नंबर पूछा जाएगा अपना नंबर डालने के बाद  next  ऑप्शन में क्लिक करना है

6: इसके बाद आपसे आपका बजट पूछा जाएगा आप अपना बजट सिलेक्ट कर ले और next क्लिक करें

8: और अब आपसे गूगल के द्वारा ad campaign बनाया है आपको उसका reviews दिखाया जाएगा और आप देख सकते हैं कि आपने किस तरीके का ad campaign बनाया है अगर आप इसमें कुछ परिवर्तन करना करना चाहते हैं तो आप कर सकते हैं और अगर आपको अपना ad campaign अच्छा लग रहा है तो आप next के ऑप्शन में क्लिक करें.

9: अब आपसे पेमेंट संबंधित जानकारियां पूछी जाएंगी आपको वह सभी जानकारियां देनी है और टर्म्स एंड कंडीशन के चेक बॉक्स आप्शन में क्लिक करना है उसके बाद आपको summit की ऑप्शन में क्लिक करना है 

10: Summit के ऑप्शन में क्लिक करने के बाद आपका अकाउंट बन जाएगा और आपके द्वारा तैयार किया गया ad कैंपन गूगल द्वारा दिखने लगेगा।

गूगल ऐडसेंस क्या है ?

ऐडसेंस एक गूगल का प्रोडक्ट है जो आपकी वेबसाइट या ब्लॉग पर automatic text ,video , और images ads दिखाता हैं । और इन ads से आपकी earning होती है।

गूगल ऐडसेंस से  earning कैसे होती है

गूगल ऐडसेंस में दो माध्यमों से earning होती हैं । 

1: imapression

2: click

Impression = आपके एड्स रोज कितनी बार देखे गए उसके हिसाब से इसमें आपकी   earning होती हैं।

Click = आपकी वेबसाइट में दिखाए गए ऐड में क्लिक कितने लोगों ने करा उसके हिसाब से आपकी अर्निंग होती है

जब आपके ऐडसेंस अकाउंट में $100 हो जायेगे। तब आप इसे अपने बैंक अकाउंट में ट्रांसफर कर सकते हैं।

गूगल ऐडसेंस के लिए अप्लाई करते वक्त किन किन बातों का ध्यान रखें

कई लोग ब्लॉग बनाते ही ऐडसेंस के लिए अप्लाई कर देते हैं। जिस कारण से उनको ऐडसेंस अकाउंट नहीं मिल पाता है क्योंकि उनके ब्लॉग में आर्टिकल ज्यादा नहीं होते हैं। जिस कारण से उन्हें अप्रूवल नहीं मिल पाता है ।

आप जब भी अपने ब्लॉग के ऐडसेंस लिए अप्लाई करें तब आप इस बात का ध्यान रखना कि आपके ब्लॉक में 15 से ज्यादा पोस्ट हो और unique post   होनी चाहिए तब जाकर आपको आसानी से  सब Adsense मिल जायेगा

ऐडसेंस अकाउंट अप्रूवल होने के बाद इन बातों का ध्यान रखें

कई लोग ऐसी गलती कर देते हैं जिनके उनका एडसेंस अकाउंट डिसेबल हो जाता है आपको अपने ऐडसेंस अकाउंट का CTR पर ध्यान देते रहना है आपके  ऐडसेंस अकाउंट का सीटीआर अगर 15 % ऊपर चला जाता है तो आपका ऐडसेंस अकाउंट डिसेबल हो सकता है

Google AdSense और GOOGLE AdS क्या अंतर है

कई लोगों को Google ads  और Google AdSense फर्क नहीं पता आज हम आपको इन दोनों में फर्क बताएंगे

1:GOOGLE AdS से  आप अपने विज्ञापनों  को किसी दूसरे के ब्लॉग में वेबसाइट में और यूट्यूब चैनल में दिखा सकते हैं इसके लिए आपको Google ads को pay करना होगा

2: Google AdSense आपकी ब्लॉग के विज्ञापनों में यदि कोई व्यक्ति क्लिक करता है तो आप की earning होती है जो कि आपको Google AdSense में दिखती है Google AdSense में 100 $ होने के बाद इन्हीं आप अपने बैंक अकाउंट में ट्रांसफर कर सकते हैं

इस आर्टिकल में हमारी राय

हमने अपनी वेबसाइट में हमेशा आपको ऑनलाइन माध्यम से पैसे कैसे कमाए हेल्थ संबंधित तथा टेक्नोलॉजी से संबंधित और ब्लॉगिंग से संबंधित समस्त जानकारी बताते रहते हैं आज के इस आर्टिकल में हमने आपको बहुत ही सरल भाषा में गूगल एड्स और गूगल ऐडसेंस में अंतर बताएं उम्मीद करते हैं आपको हमारे द्वारा बताई के समस्त जानकारी समझ में आ गई होगी यदि आपके पास कोई सवाल है तो आप कमेंट करके पूछ सकते हैं आपको यह आर्टिकल कैसा लगा कमेंट करके अवश्य बताएं ताकि आगे भी हम आपके लिए ऐसे ही मजेदार आर्टिकल लाते रहे ।