नमस्कार दोस्तों ! Best My Smart Tips Blog में आपका स्वागत है। आज के समय में हमारी शुरुआत इंटरनेट और स्मार्टफोन के बिना नहीं होती हैं हम जब भी सुबह सोकर उड़ते हैं तो हम सबसे पहले अपने मोबाइल फोन को देखकर ही उठते हैं ये हमारी जिंदगी का हिस्सा बन गया हैं और ऐसा हो भी क्यों ना हम अपना सारा काम इसी मोबाइल से ही तो करते हैं पहले समान खरीदने के लिए हमें बाजार जाना पड़ता था पैसे भेजने के लिए या जमा कराने के लिए बैंकों में सुबह से लाइनों में खड़ा होना पड़ता था लेकिन अब वह सारे काम मोबाइल से ही कर सकते हैं लेकिन क्या आपने कभी ये सोचा हैं कि यह सारी सुविधा हमें मोबाइल से कैसे प्राप्त होती है दोस्तों यह संभव हो पाया है एक उच्चस्तर के प्रोग्रामिंग भाषा के जावा वजह से । अगर आप एक कंप्यूटर के छात्र हैं या रह चुके हैं तो आपने जावा का नाम अवश्य सुना होगा और अगर आपने नहीं सुना है तो आज के इस लेख में हम आपको जावा से संबंधित संपूर्ण जानकारी देने वाले हैं इसलिए को लेख पूरा जरूर पढ़ें जानकारी आपको अच्छे से समझ में आ जाए ।

Java programming languages kya hai

साथियों आज के वक्त में प्रोग्रामिंग भाषा की मांग बहुत ही ज्यादा है मैं आपको रोचक तथ्य बताऊंगा जो आपको आश्चर्यचकित कर देगी अभी क्यों वक्त में करीबन 3000000 से भी ज्यादा इलेक्ट्रॉनिक डिवाइस ओं में जावा प्रोग्रामिंग कोड उपयोग किया जाता हैं आप इससे अनुमान लगा सकते हैं कि आज के वक्त में प्रोग्रामिंग भाषा कितनी प्रसिद्ध है साथियों आज के वक्त में  स्मार्टफोन का उपयोग कर रहे हैं और जितनी भी इलेक्ट्रॉनिक डिवाइस जैसे स्मार्ट टीवी ,एसी, डिजिटल फ्रिज इन सभी में इसका इस्तेमाल किया जाता हैं । अगर आप एंड्राइड प्रोग्रामिंग को सीखना चाहते हैं तो बहुत जरूरी है कि आपको जावा प्रोग्रामिंग भाषा के बारे में संपूर्ण जानकारी का पता होना चाहिए अगर आपको जावा प्रोग्रामिंग भाषा के बारे में पूरी जानकारी पता नहीं होगी तो आप एंड्रॉयड प्रोग्रामिंग के फील्ड में कभी सफल नहीं हो पाएंगे इसलिए आज हम आपको जावा प्रोग्रामिंग भाषा के बारे में पूरी जानकारी बताएंगे इसका इतिहास बताएं और इसका इस्तेमाल कहां किया जाता है इन सभी विषयों पर इस लेख में चर्चा करेंगे।

जावा क्या है ?

यह एक जनरल पर्पस प्रोग्रामिंग लैंग्वेज है इसका उपयोग सॉफ्टवेयर और एप्लीकेशन डेवलपमेंट में किया जाता है एक उच्चस्तर के प्रोग्रामिंग भाषा हैं साल 1995 में सन माइक्रोसिस्टम्स (Sun Microsystems) में इसका प्रारंभ किया गया था। जेम्स गोस्लिंग इसके प्रमुख डेवलपर में से एक हैं इसमें लिखे गए कोड को आप किसी भी प्लेटफार्म या OS (ऑपरेटिंग सिस्टम) में रन करा सकते हैं इसमें लिखे सारे कोड अंग्रेजी  में होते हैं यानी संख्यात्मक कोड में । लिखे गए कोडो को कोई भी बड़ी आसानी से समझ सकता है इसलिए इसे उच्चस्तर के प्रोग्रामिंग भाषा में शामिल किया गया हैं । यह OOPS के संकल्पना (concept) को फॉलो करती है . C++ भाषा के मौलिक ( fundamental) हो इसमें इस्तेमाल किया गया है.

प्रोग्राम लिखने के लिए कुछ नियमों को फॉलो किया जाता हैं जिनको सिंटेक्स बोला जाता है बिना सिंटेक्स के प्रोग्राम लिखने से त्रुटि निकलता हैं साथियों जैसे आप हिंदी या अंग्रेजी लिखते हो तो उसमें अगर आप व्याकरण नियमो को फोलो नही करगे तो वह गलत हो जाता हैं वैसै इसमें सिंटेक्स को फॉलो करना बहुत ही महत्त्वपूर्ण  होता हैं ।

जावा प्रोग्रामिंग भाषा का उपयोग कहाॅ होता हैं ?

जावा कंप्यूटर प्रोग्रामिंग भाषा का एक ही मुख्य उद्देश्य है इसमें जो भी कोड लिखा गया हैं वह सारे कंप्यूटर में रन होने चाहिए चाहे वो दोनो  मशीन एक जैसे हो या नही मेरा कहने का अर्थ है चाहे कोई भी ऑपरेटिंग सिस्टम (OS) हो (windows या mac) जैसे एक उदाहरण पर C++  में लिखा गया कोड कभी भी दूसरे मशीन में एक जैसे निष्पादित (execute) नहीं होता हैं । विंडोज में लिखा गया कोड कभी भी Mac ऑपरेटिंग सिस्टम (OS) में रन नहीं होता हैं लेकिन यह जावा प्रोग्रामिंग के मामले में गलत है। वेब बेस्ड प्रोग्रामिंग  और मोबाइल एप्लीकेशन, सॉफ्टवेयर बनाने के लिए इसका उपयोग किया जाता है एंड्राइड की जितने भी ऑपरेटिंग सिस्टम (OS) है जैसे = Loilpop ,KitKat, Oreo ये सभी इसी प्रोग्रामिंग भाषा डेवलपर  किया गया है आज के वक्त में जितने भी प्रकार के बेव पेज हैं वे सभी जावा स्क्रिप्ट पे चलते हैं । साथियों अब आप सोच रहे होंगे की जावा प्रोग्राम कोड कैसे run या execute होता हैं ?  और इसके बारे में हम आगे जानते हैं

जावा प्रोग्राम कोड कैसे run या execute होता हैं ?

ये भाषा कोड को रन करने के लिए सार कंप्यूटिंग मशीन (abstract computer machine) का उपयोग किया जाता है जिसका नाम जावा आभासी मशीन (Java Virtual Machine ) हैं और इसके बारे में आपको जानकारी होना अति आवश्यक है.

PHP language क्या होती है और इसका इस्तेमाल कहां किया जाता है ?।।

वेब डिजाइनर कैसे बनें?।।

HTML और HTML5 क्या हैं ?

वेब ब्राउज़र क्या है ?

गूगल सर्च इंजन में ब्लॉग रैकं कैसे बढाये

जावा आभासी मशीन (Java Virtual Machin) का मतलब क्या है ?

जावा आभासी मशीन (Java Virtual Machine )  का संक्षिप्त रूप JVM हैं। यह एक आभासी कंप्यूटर (Virtual computer) हैं जो सारे जावा प्रोग्राम को रन करता हैं । जब एक प्रोग्राम लिखा जाता है उसी को सोर्स कोड बोला जाता है इसी सोर्स कोड को जावा संकलन (Java compiler) की सहायता से अनुभाषक (compile) करके बाइट कोड जनरेट किया जाता है इस बाइट कोड  को निष्पादित (execute) करने के लिए जावा आभासी मशीन (JVM) का उपयोग किया जाता है.जावा आभासी मशीन के अंदर जावा दुभाषिया (Java interpreter) रहता है वही प्रोग्राम को रन करता है

एक बात जान ले कि जितने भी प्रकार के कंप्यूटर जावा प्रोग्राम रन करते हैं इन सभी ने सबसे पहले से ही जावा दुभाषिया (Java interpreter) रहता है इसलिए ये कोड सारे कंप्यूटर में चलता है उसी वजह से जावा एक प्लेटफॉर्म इंडिपेंडेंट लैंग्वेज हैं दूसरे के जितने भी प्रोग्रामिंग भाषा है उनके अनुभाषक (compile) जो कोड उत्पादन (code produce) करते हैं वो एक ही सिस्टम के लिए उत्पन्न  (generate) करते हैं और एक ही सिस्टम में रन होते है लेकिन जावा अनुभाषक (compile) जो भी बाइट कोड उत्पन्न करता है वह जावा आभासी मशीन (Java Virtual Machine ) के लिए होता है

जावा आभासी मशीन (Java Virtual Machine ) सारे सिस्टम में रहने की वजह से यह प्रोग्राम हर कंप्यूटर में चलता है यह  वर्चुअल मशीन कोड को ऑपरेटिंग सिस्टम में चलने लायक बनाता है

Platform Independent

इसके नाम को देख कर आप समझ गए होंगे कि प्लेटफॉर्म के ऊपर निर्भर (depend)  नहीं करता यहां पर प्लेटफार्म का मतलब ऑपरेटिंग सिस्टम से है जैसे = windows, Linux, Android Mac. जब हम कोई प्रोग्राम सीखते हैं या कोई सॉफ्टवेयर बनाते हैं वो सारे ऑपरेटिंग सिस्टम प्लेटफॉर्म पर चलते हैं लेकिन कुछ प्रोग्राम ऐसे होते हैं जो बस एक ही कंप्यूटर और ऑपरेटिंग सिस्टम पे चलते हैं ऐसे प्रोग्राम को प्लेटफॉर्म इंडिपेंडेंट प्रोग्राम कहते हैं अगर कोई ऐसा प्रोग्राम है जो कोड  दूसरे प्लेटफार्म पर भी रन करता हो तो प्लेटफार्म को स्वतंत्र मंच कोड (Platform Independent code) कहते हैं इसका अर्थ यही है की जावा एक ऐसी प्रोग्रामिंग भाषा  है इसके कोड सारे क्रॉस प्लेटफार्म पे चलते हैं 

जावा प्रोग्रामिंग भाषा को बनाने का मकसद क्या था ?

आप सभी को पता होगा कि पहले जितने भी प्रोग्रामिंग भाषा हैं और थे। वो सारे प्रक्रियात्मक संरचना( procedural structure) को फॉलो करते हैं इसके बाद आया वस्तु उन्मुख अवधारणा(Obeject Oriented concept ) और आज के वक्त में ऑब्जेक्ट ओरिएंटेड पूरे प्रोग्रामिंग उद्योग को ही बदल डाला यह प्रोग्रामिंग भाषा भी किसी अवधारणा को फॉलो करता हैं । आपके दिमाग में जो सवाल आ रहा होगा इतनी सारी कंप्यूटर भाषा है फिर भी इसमें क्या विशेषता है अभी के वक्त में आप जानते ही होंगे कि इंटरनेट एप्लीकेशन का कितना मांग में हैं चाहे वो ऑनलाइन वीडियो / छवि संपापन (image editing) ,चाहे कुछ ऑनलाइन कन्वर्ट करना हो उदाहरण के लिए = word to pdf ,ZIP , RAR File , बनाना सब इसी कारण संभव हो पाया है। आजकल हम जितने भी ऑनलाइन फॉर्म भरते हैं ऑनलाइन कैलकुलेटर इन का निर्माण जावा की सहायता संभव हुआ है इंटरनेट में जावा दूसरे वेब बेस्ड भाषा के साथ मिलकर कार्य करता है इसका अर्थ ये है इंटरनेट एप्लीकेशन और टूल्स डेवलपर करने इसको बनाया गया है अगर हमें दूसरे भाषा के साथ तुलना करें बड़ी आसानी से इंटरनेट में निष्पादित (execute) होता हैं इसमें प्रोग्राम को लिखना बहुत ही आसान होता है।

जावास्क्रिप्ट, JSP ( जावा सर्वर पेज ) और जावा इन सभी के  सहायता से पावरफुल वेब एप्लीकेशन का निर्माण किया जाता है जावा एप्लेट को आप में आसानी से लागू कर सकते है इसके सहायता से आप ऑफलाइन प्रोग्राम भी लिख सकते हो जो बिना इंटरनेट के भी चलते हैं मेरी तो यही राय है कि आप सॉफ्टवेयर की दुनिया में कुछ करना चाहते हो पूजावा प्रोग्रामिंग भाषा को जरूर सीखे चलिए अब आगे हम इसका इतिहास जानते हैं।

जावा प्रोग्रामिंग भाषा का इतिहास क्या है ?

जावा प्रोग्रामिंग भाषा का इतिहास बहुत ही अच्छा रहा है इसलिए इसका इतिहास जानना आपके लिए अति आवश्यक है इसकी शुरुआत ग्रीन टीम (Green team) से हुई थी जावा टीम के सदस्य को ग्रीन टीम कहा जाता है इस टीम का सिर्फ एक ही उद्देश्य था की एक ऐसी भाषा बनाई जाए जिसे इलेक्ट्रॉनिक डिवाइस जैसे = सेट टॉप बॉक्स टेलीविज़न , को प्रोग्राम किया जा सके उस वक्त में अग्रिम अवधारणा (advance concept) था . लेकिन आगे चलकर है यह इंटरनेट के लिए बहुत ही मददगार साबित हुआ कुछ वक्त के बाद नेटस्केप के साथ यह टेक्नॉलॉजी मिल गई.

जेम्स गोस्लिंग जावा प्रोग्रामिंग भाषा के प्रमुख डेवलपर में  से एक हैं अभी के वक्त में जावा प्रोग्रामिंग भाषा का इस्तेमाल इंटरनेट प्रोग्रामिंग, गेम्स , ई बिजनेस  सोलूशन्स , मोबाइल डिवाइस , के लिए किया जाता है

जेम्स गोस्लिंग , माइक शेरिडन और पैट्रिक नॉटन ने जावा प्रोग्रामिंग भाषा का प्रोजेक्ट साल 1991 में शुरू किया इन्होंने एक इंजीनियर टीम बनाई थी और उस टीम का नाम ग्रीन टीम था इस भाषा की कोडिंग सी में लिखी गई है जेम्स गोस्लिंग ने इस भाषा का नाम GreenTalk रखा और File Extension था लेकिन बाद में इसका नाम बदलकर Oak रखा गया था.

इसका नाम Oak क्यो पड़ा ?

Oak को Strength ( ताकत) का प्रतीक (Strength) बोला जाता है  Oak पश्चिम देश ( फ्रांस,  जर्मन,USA, रोमानिया ) नेशनल ट्री हैं उसके बाद साल 1995 में इसका नाम बदलकर जावा रख दिया गया क्योंकि Oak उस वक्त से पहले Oak टेक्नोलॉजी कंपनी का ट्रेड मार्क था इस प्रोग्राम की भाषा का नाम जावा ही क्यों पड़ा तो इसके बारे में आगे विस्तार में जानते हैं

इस प्रोग्रामिंग भाषा का नाम जावा ही क्यों रखा गया ? 

जब ग्रीन टीम एक साथ मिलकर होकर एक भाषा का चयन कर रही थी उन सभी टीम सदस्यों ने कुछ नाम के सुझाव दिए जैसे =DNA ,jiot , dynamic ,revolutionary . वो चाहते थे कोई नाम हो जो उनकी टेक्नॉलॉजी को प्रतिनिधित्व  (represents) करे कोई ऐसा नाम जो क्रांतिकारी (revolutionary) हो ,dynamic, Lively, Cool, Unique  ।जेम्स गोस्लिंग  के मुताबिक आखिर में दो सुझाव दें उनमें से पहला सुझाव था कि इस प्रोग्रामिंग भाषा का नाम जावा दिया जाए और दूसरा सुझाव था कि इस प्रोग्राम में भाषा का नाम SILK रखा जाये। ग्रीन टीम को जावा नाम बहुत यूनिक लगा और आखिर में इस प्रोग्रामिंग भाषा का नाम जावा किया गया 

जावा इंडोनेशिया का एक आईलैंड का नाम था जहां सर्वप्रथम कॉफी का उत्पादन हुआ था सन माइक्रोसिस्टम में डेवलपर किया गया था अभी ये ओरेकल कॉर्पोरेशन का एक भाग है JdK 1.0 को जनवरी 1996 में जारी किया गया था।

जावा प्रोग्रामिंग भाषा का इतिहास क्या है ?

समय के साथ-साथ जावा के अलग-अलग वर्जन को जारी किया गया उनकी जानकारी नीचे हमने आपको बता रखी है।

1: JDK AlPha and Beta = जावा के इस वर्जन को साल 1995 को जारी किया गया

2: JDK 1.0  = जावा के इस वर्जन को दिनांक 23  जनवरी 1996 को जारी किया गया

3: JDK 1.1 = जावा के इस वर्जन को दिनांक   19 फरवरी 1997 को जारी किया गया

4: J2SE  1.2 =जावा के इस वर्जन को दिनांक 8 दिसंबर 1998 को जारी किया गया

5: J2SE  1.3 =जावा के इस वर्जन को दिनांक 8 मई 2000 को जारी किया गया

6: J2SE  1.4 =जावा के इस वर्जन को दिनांक  6 फरवरी 2002  को जारी किया गया

7: J2SE  5.0 =जावा के इस वर्जन को दिनांक 30 सितम्बर 2004 को जारी किया गया

8: J2SE SE 6 = जावा के इस वर्जन को दिनांक 11 दिसंबर 2006 को जारी किया गया

9: J2SE  SE 7  =जावा के इस वर्जन को दिनांक 11 जुलाई 2011 को जारी किया गया

10 : J2SE SE 8 =जावा के इस वर्जन को दिनांक 18 मार्च 2014 को जारी किया गया

जावा प्रोग्रामिंग भाषा का इस्तेमाल कहां कहां होता हैं ?

अभी के वक्त में 3 बिलियन से भी अधिक  डिवाइस जावा की सहायता से चलते है आईटी इंडस्ट्री में सबसे अधिक उपयोग की जाने वाली प्रोग्रामिंग भाषा है

जावा सर्वर पेज = यह एक वेब टेक्नोलॉजी  है इसका इस्तेमाल वेब एप्लीकेशन में किया जाता है JSP की सहायता से जावा कोड को HTML डॉक्यूमेंट में डालने में किया जाता है जावा कोड में एचटीएमएल टैग में डालने करने के लिए JSP tag का उपयोग किया जाता है इसकी मदद से डायनामिक वेब पेज बनाए जाते है आपको पता होगा कि पीएचडी भी सर्वर साइड स्क्रिप्टिंग भाषा हैं पीएचडी में भी जावा का इस्तेमाल हुआ है।

एप्लेट = यह एक प्रकार का जावा प्रोग्राम है इसको में बेव पेज के अंदर जोड़ा जाता है जिससे वेब पेज में नये फीचर्स दिखने लगते हैं एप्लेट एचटीएमएल के अंदर ही रहते हैं कुछ ऑनलाइन गेम भी एप्लेट के उदाहरण भी है एप्लेट को बेव ब्राउज़र में रन करने के लिए plugin की आवश्यकता पड़ती हैं

J2EE = जावा 2 एंटरप्राइज़ संस्करण (Java 2 Enterprise Edition) एक प्लेटफार्म इंडिपेंडेंट एनवायरनमेंट  हैं इसकी सहायता से web based industry applications निर्माण किया जाता है xml आधारित संरचित डेटा को कंपनी में शेयर करके के लिए जावा 2 एंटरप्राइज़ संस्करण (Java 2 Enterprise Edition) द्वारा बनाए गए वेब एप्लीकेशन को इस्तेमाल किया जाता हैं।

JavaBeans = यह विज़ुअल बेसिक जैसा ही है पहले से मौजूद अवयव (component)  की सहायता से नये और advanced applications का निर्माण किया जा रहा है इनमें बहुत सारे वस्तुओ (objects) को एक वस्तु (object) में रखा जाता हैं जिसे बीन (bean) कहते है।

Mobile = इस भाषा का मोबाइल डिवाइस में भी बहुत महत्वपूर्ण योगदान है इसने गेम इंडस्ट्री को पूरी तरह से परिवर्तित कर दिया जितने भी  मोबाइल इंडस्ट्री है वो सब जावा टेक्नोलॉजी का उपयोग करते हैं।

जावा एप्लीकेशन के प्रकार क्या -क्या हैं ?

1: वेब एप्लीकेशन

वेब एप्लीकेशन का मतलब है सर्वर साइड वेब एप्लीकेशन डेवेलोप करने से हैं । अभी के वक्त में वेब एप्लीकेशन के निर्माण करने के लिए  JSP , servlet, jsf , struts, इन सभी का उपयोग किया जाता हैं ।

2: उपक्रम एप्लिकेशन ( Enterprise applications)

बहुत सारे उपक्रम एप्लिकेशन के निर्माण जावा ही सिर्फ एक प्रोग्रामिंग है क्योंकि ये हाई लेवल सिक्योरिटी प्रोवाइड करता है बैंकिंग, सॉफ्टवेयर इंडस्ट्री एप्लीकेशन ,एकाउंटिंग एप्लीकेशन, इन सभी तरह के उपक्रम एप्लिकेशन ( Enterprise applications) निर्माण करने के लिए एंटरप्राइज जावा बीन का उपयोग किया जाता है.

3: मोबाइल एप्लीकेशन

आप मोबाइल में जितने भी गेम और एप्लीकेशन रन हो वह सभी ऐसी भाषा के द्वारा बनाए जाते हैं गूगल प्ले स्टोर में जितने भी ऐप है वे सभी इसी प्रोग्रामिंग भाषा द्वारा विकसित किए गए हैं। 

जावा प्रोग्रामिंग भाषा की विशेषताए

1: Object Oriented = जावा प्रोग्रामिंग भाषा  में सब कुछ Object Oriented हैं  वस्तु मॉडल (object model) की सहायता से बड़े लम्बे कोड वाले ऐप / सॉफ्टवेयर आसानी से बना सकते हैं

2: प्लेटफॉर्म इंडिपेंडेंट = यह एक बहुत ही खास भाषा है इस भाषा के द्वारा बनायेगे सॉफ्टवेयर सभी ऑपरेटिंग सिस्टम में चला सकते हैं जिनको क्रॉस प्लेटफॉर्म भी बोला जाता है लेकिन अगर हम बात करते हैं C और C++ की । ये दोनो भी प्लेटफाॅर्म डिपेंडेंट भाषा हैं ।

3: Simple- इसको आप आसानी से लिख सकते हैं और समझ सकते हैं यही इसकी गुणवत्ता है इसलिए इसको सरल भी कहा जाता है OOPS (Object-oriented programming system) के  मूल अवधारणा (Basic concept) समझ आ गई तो आपको जावा प्रोग्रामिंग भाषा का मास्टर बनने से कोई नहीं रोक सकता हैं।

4: Security = इसके सिक्योरिटी फीचर्स के कारण यह बहुत ही लोकप्रिय है वायरस फ्री , टैम्पर फ्री सिस्टम सॉफ्टवेयर डेवलप करने के लिए कर सकते हैं Authentication Technique (प्रमाणीकरण तकनीक) में पब्लिक की एन्क्रिप्शन का उपयोग किया जाता है।

5: Architectural-neutral = अनुभाषक (compiler)के जरिए  जो कोड उत्पन्न (generate) किया जाता हैं वह बाइट कोड (byte code) होता है इस कोड को आप कहीं भी , किसी भी ऑपरेटिंग सिस्टम में और प्रोसेसर में रन कर सकते हैं इसके लिए JVM (Java virtual machine) का होना अति आवश्यक है कि सारे सिस्टम में मौजूद होते हैं

6: Portable = प्लेटफॉर्म इंडिपेंडेंट की वजह से  यह पोर्टेबल भी हैं क्योंकि जावा और अनुभाषक (compiler) दोनों को ANSI C लिखा जाता हैं 

7:Robust = इसमें लिखे गए सारे प्रोग्राम मजबूत होते हैं साथियों मजबूत का मतलब लोहे जैसे मजबूत नहीं जब प्रोग्राम को रन किया जाता है तो इसमें कोई  त्रुटि नहीं रहता है क्योंकि अनुभाषक समय ( compiler Time) और रन टाइम एरर चेकिंग मैकेनिज्म का उपयोग किया जाता है

8: Multi-threaded = इसी फीचर्स की वजह से आप जैसे प्रोग्राम लिख सकते हो multiple task को प्रदर्शन (perform)  कर सकते हैं अर्थात एक एप्लीकेशन होगी और आप सारे टास्क में कर सकते हो

High performance ( उच्च प्रदर्शन)= just in time

Compiler (अनुभाषक) की वजह से जावा का प्रदर्शन (performance) काफी अच्छा है।

Distributed= इसी नेचर (nature) की वजह से इंटरनेट के Distributed Environment में अपना रुतबा कायम रहता है।

9: Dynamic = यह Dynamic programming (गतिशील प्रोग्रामिंग) हैं  कोई भी Environment को ये अनुकूल (adapt) कर  सकती हैं ।

जावा प्रौद्योगिकी के विभिन्न संस्करण (Different Editions of Java Technology)

1: Java SE - सर्वर एप्लीकेशन , डेस्कटॉप एप्लीकेशन और एप्लेट्स प्रोग्राम निर्माण के लिए Java SE  या  जावा स्टैण्डर्ड एडिशन (Java Standard Edition) आपको वो टूल्स और API provides करता है Java SE की सहायता से जितने भी प्रोग्राम लिखे जाते हैं वो सभी ऑपरेटिंग सिस्टम चलते है जैसे = Linux, mac ,windows. 

2: java Enterprise Edition (JEE) - वेब एप्लीकेशन सर्वर ,Component model, Enterprise Class ,Service Oriented  Architecture (SOA)   के लिए सहायक हैं

3: Java micro editor (JME) - यह APIS का कलेक्शन है इसका उपयोग मोबाइल फोन एप्लीकेशन ,टीवी सेट टॉप बॉक्स, सॉफ्टवेयर , करने के लिए किया जाता है माइक्रो एडिशन प्लेटफार्म का इंटरफ़ेस कॉफी यूजर फ्रेंडली हैं । और यह इसके साथ-साथ भरोसे लायक भी है सिक्योरिटी मॉडल अलग-अलग तरह के Built in Network की सुविधा देता है जिससे आप जावा बेस्ट एप्लीकेशन इसमें चला सकते हो।

कंप्यूटर में जावा चलाने के लिए क्या चाहिए 

1: सर्वप्रथम आपको जावा सॉफ्टवेयर डेवलपमेंट किट को इस लिंक से http://java.sun.com/ डाउनलोड करे।

2: वेबसाइट में जो भी अनुदेश (instruction)  दिए हैं उनको फॉलो करें.

जवा प्रोग्राम लिखने के लिए जावा एडिटर्स

जावा प्रोग्राम देखने के लिए आपको जावा एडिटर्स की आवश्यकता जरूरत पड़ेगी और आप नीचे दिए गए जावा एडिटर्स का उपयोग कर सकते हैं

1: notepad++ = यह एक एडिटर्स है जिसमें आप आसानी से कुछ लिख सकते है और त्रुटि ढूंढने में Missing Bracket को ढूंढने में आसानी होती है

2: netbeans- यह jave Ide और ओपन सोर्स और फ्री एडिटर्स हैं । इसको आप इस लिंक में क्लिक करके अपने डिवाइस में डाउनलोड कर सकते हैं

http://www.netbeans.org/index.html

3: eclipse =  यह भी jave ide है जिसको eclipse open source community विकसित किया है इसको आप इस लिंक में क्लिक करके अपने डिवाइस में डाउनलोड कर सकते हैं

http://www.eclipse.org

जावा प्रोग्रामिंग भाषा कैसे सीखे ?

प्रोग्रामिंग के मांग के मुताबिक अगर आपको प्रोग्रामिंग की बुनियादी बातों के बारे में पता है तो आप हो जावा प्रोग्रामिंग भाषा सीखनी चाहिए क्योंकि आप सॉफ्टवेयर डेवलप करके बहुत प्ले स्टोर में एप्लीकेशन बनाकर लाखों पैसे कमा सकते है इसीलिए मेरी आपको यही है कि आप  कुछ ट्यूटोरियल साइट और वीडियो को देखकर सीख सकते हो 

नीचे हमने आपको कुछ ऐसी वेबसाइट बताइए उनकी सहायता से आप आसानी से जावा प्रोग्रामिंग  सीख सकते हो

1: https://www.tutorialspoint.com/java/

2: https://www.codecademy.com/learn/learn-java

3: https://www.udemy.com/java-tutorial/

https://www.w3schools.in/java-tutorial/

जावा प्रोग्रामिंग सीखने के लिए यूट्यूब चैनल का लिंक 

1: https://www.youtube.com/results?search_query=java+tutorial+

निष्कर्ष

उम्मीद करते हैं कि आपको हमारे द्वारा जावा प्रोग्रामिंग भाषा के बारे संपूर्ण जानकारी मिल गई होगी और यदि आपके पास कोई सवाल है तो आप कमेंट करके पूछ सकते हैं और इस लेख को अधिक से अधिक लोगों तक शेयर करें ताकि उन्हें भी इस प्रोग्रामिंग भाषा के बारे में अधिक से अधिक जानकारी मिल सके