नमस्कार दोस्तों ! Best My Smart Tips Blog में आपका स्वागत है। वैसे तो आज के समय में ब्लॉगिंग के क्षेत्र में बहुत लोग आ रहे हैं लेकिन बहुत कम लोग भी इस क्षेत्र में सफल हो पाते हैं आखिर क्यों ?ऐसा इसलिए होता हैं क्योंकि उन्हें ब्लॉगिंग क्षेत्र के बारे में संपूर्ण जानकारी नहीं होती है  जिस कारण से वे लोग ब्लॉगिंग क्षेत्र में असफल हो जाते हैं ब्लॉगिंग क्षेत्र में असफल होने के कई कारण होते हैं उनमें से एक मुख्य कारण है Blacklink के बारे में सही जानकारी के बारे में पता ना होना।

अगर आप एक ब्लॉगर हैं तो आपने कभी ना कभी Blacklink के बारे में अवश्य अवश्य सुना होगा और आप अपनी वेबसाइट के high quality balicklink बनाकर अपनी वेबसाइट को गूगल मैं रैंक करा सकते हैं तो आज की इस आर्टिकल में हम Blacklink क्या होता है और Blacklink कितने प्रकार के होते हैं ? इन सभी विषयों के ऊपर आज इस आर्टिकल में चर्चा करने वाले हैं इसलिए इस आर्टिकल को पूरा जरूर पढ़ें ताकि आपको इस आर्टिकल में दी गई जानकारी आपको अच्छे से समझ में आ जाए और आप अपनी वेबसाइट को गूगल में रैंक करा सके आप इस आर्टिकल को अधिक से अधिक लोगों तक शेयर करें ताकि अन्य लोग भी अपनी वेबसाइट गूगल में रैंक करा सके हैं ।

बैकलिंक क्या होता हैं ?


बैकलिंक क्या हैं 

बैकलिंक ऐसा लिंक होता है जो दूसरे वेबसाइट से आपकी वेबसाइट तक जाने का एक माध्यम होता हैं जब एक वेब पेज दूसरे बेव पेज के साथ जुड़ा हुआ होता है उसे हम बैकलिंक कहते हैं चलिए आपको हम एक उदाहरण देकर समझाने की कोशिश करते हैं कि बैकलिंक क्या होता हैं

मान लीजिए कि कोई बहुत अच्छी वेबसाइट है उस वेबसाइट में अच्छे आर्टिकल लिखे गए हैं प्रतिदिन उस वेबसाइट में अच्छा ट्रैफिक आता है और अगर आपकी साइट का लिंक उस वेबसाइट में होगा तो कुछ वेबसाइट से लोग आपकी वेबसाइट में आएंगे इस कारण से सर्च इंजन में आपकी वेबसाइट की रैंक बढ़ेगी और आप अच्छा पैसा कमा पाएंगे। बैकलिंक बनाने के लिए कुछ नियम होते हैं उन नियमों को जानना अति आवश्यक है क्योंकि अगर आप उन नियमों को नहीं जानते हैं तो आप ब्लॉगिंग के क्षेत्र में असफल हो जाएंगी हमने आपको नीचे कुछ नियम बता रखे हैं जिन्हें आप अच्छे से पढ़ ले

1: Link juice : जब एक वेब पेज का लिंक आपकी वेबसाइट के किसी भी एक आर्टिकल के लिंक  से या फिर आपकी वेबसाइट के होमपेज से जुड़ा होता हैं तो वहां से लिकं flow होता है इस लिंक पर क्लिक करने पर वह सीधे आपकी वेबसाइट में पहुंचाता है  और इसे सरल भाषा में Link juice कहा जाता हैं यह Link juice सर्च इंजन में आपकी वेबसाइट के लिंक सर्च इंजन में आपकी वेबसाइट की रैंक को बढ़ाता है और इसके साथ ही आपकी वेबसाइट का domain authority (DA) को भी बढ़ता हैं 

2 : Low quality links :Low quality links वो लिंक होता है जो किसी गलत वेबसाइट , स्पैम बेवसाइट ,या फिर porn sites से आपकी वेबसाइट पर आ रही होती है तो ऐसे लिंक आपकी बेवसाइट फायदा नहीं बल्कि नुकसान करवाते हैं इसलिए जब भी आप बैकलिंक कि अपने ब्लॉग के लिए बना रहे हो तो जो आप अपने बैकलिंक बना रहे हैं वे high quality links होने चाहिए 

3: high quality links : हमने आपको Low quality links  के बारे में जानकारी दे दी चलिए आप समझते हैं high quality links क्या होते हैं बहुत ही सरल भाषा में कहूं तो high quality links का मतलब है  जो वेबसाइट बहुत ही लोकप्रिय है और जिनका वैल्यू गूगल में ज्यादा रहता है अगर आपके वेबसाइट में भी quality website से बैकलिंक  मिलते हैं तो आपकी वेबसाइट गूगल में हाई रैंक में आ जाएगी और आपके ब्लॉग में ट्राफिक बढ़ने लगेगा ।

एक बात आप ध्यान रखें कि जब भी आप high quality Blacklink बनाएंगे तो आपको automotive और relevant site से बैकलिंक मिले इसका अर्थ है कि आपका ब्लॉग जिस niches पर बना है आप उसी niches से संबंधित बैकलिंक को पाना होगा

उदाहरण के लिए मान लीजिए कि आपका टेक्नोलॉजी संबंधित कोई ब्लॉग है तो आपको ब्लॉग से बैकलिंक बनाना होगा जो टेक्नोलॉजी संबंधित से संबंधित है तभी आप को फायदा होगा अगर आप किसी दूसरे fashion से संबंधित ब्लॉग से बैकलिंक बनाते है तो आपको कुछ फायदा नहीं होगा 

4:  internal link : internal link का मतलब है जो आपकी वेबसाइट की एक पेज से लेकर  दूसरे पेज तक जाते हैं जिसे हम internal link कहते हैं इसे अच्छे से समझाने के लिए में आपको एक उदाहरण देता हूं

आपने अपने ब्लॉग में एक आर्टिकल लिखा और वह आर्टिकल गूगल में अच्छी रैंक पर है और आपने ब्लॉग अन्य आर्टिकल को भी उसी तरह से गूगल में रैंक कराना चाहते हैं तो आप जिन आर्टिकल को गूगल में रैंक कराना चाहते हैं उन आर्टिकल के लिंक उस आर्टिकल में डाल देंगे जो गूगल में पहले से रैंक में चल रही है जिससे आपके ब्लॉग में उपस्थित अन्य आर्टिकल भी लोग पढ़ेंगे और धीरे-धीरे आपके ब्लॉक के सभी आर्टिकल गूगल में रैंक करने लग जाएंगे ।

मोबाइल से ब्लॉगिंग कैसे करें ?

गूगल सर्च इंजन में ब्लॉग रैकं कैसे बढाये ?

SEO क्या हैं ?अपने blog में इसका इस्तेमाल कैसे करें

एलेक्सा रैंक क्या है और आप अपने ब्लॉग की एलेक्सा रैंकिंग कैसे सुधार सकते हैं?

पेटीएम क्या है और पेटीएम एप्लीकेशन से पैसे कैसे कमाए ?

बैकलिंक कितने प्रकार के होते हैं

बैकलिंक के दो प्रकार होते हैं जिनके बारे में हमने आपको नीचे बता रखा है हमने आपको दोनों प्रकारों के ऊपर संपूर्ण जानकारी दे रखी है 

1: DOfollow balicklink 

2: Nofollow Blacklink

Dofollow balicklink क्या होता हैं  ?

जैसा कि ऊपर हमने link juice के बारे में बताया था dofollow balicklink link juice को pass करने में मदद करता है जो कि एक वेबसाइट से दूसरे वेबसाइट तक जाने का एक जरिया बनता हैं उसे Dofollow balicklink कहा जाता है by default सारे लिंक जो आप दसूरे वेबसाइट या अपने ब्लॉग के आर्टिकल में देते हैं वे सभी dofollow balicklink के अंदर आते हैं ये लिंक आपके ब्लॉग को गूगल सर्च इंजन में रैंक लाने के लिए काफी फायदेमंद होता है और एक Dofollow balicklink कभी भी Attribute नहीं रहता हैं । उदाहरण :

<a href="yourwebsite.com">Link Text</a> 

Nofollow balicklink क्या होता हैं  ?

dofollow balicklink link juice को pass करने में मदद करता है इस बैकलिंक की सर्च इंजन में कोई वैल्यू नहीं होती है और यह बैकलिंक आपकी बेवसाइट के लिए बिल्कुल काम नहीं आता हैं लेकिन कुछ हद तक बैकलिंक के फायदे भी होती है जिनके बारे में हमने आपको नीचे बता रखा है आप उन्हें पढ़कर ही के फायदे जान सकते हैं ।

1: Nofollow balicklink आपकी प्रोफाइल लिंक को natural look देते हैं

2: अगर आपकी वेबसाइट के सारे dofollow balicklink होंगे तो गूगल को  ऐसा लगेगा कि आपकी प्रोफाइल लिंक nature नहीं है और ऐसी स्थिति में गूगल आपको penalise भी कर सकता है

3: इस Nofollow balicklink का एक फायदा यह है कि अगर आपकी वेबसाइट में किसी अन्य वेबसाइट का लिंक उपस्थित है और उस वेबसाइट पर डाले गए पोस्ट आपको अगर पसंद नहीं है तो ऐसे में आप उस लिंक के साथ Nofollow Attribute add कर सकते हैं जिसके बाद कोई भी व्यक्ति आपकी वेबसाइट से दूसरी वेबसाइट में उस लिंक के माध्यम से नहीं जा पाएगा . उदाहरण :

<a href="yourwebsite.com" rel="nofollow">Link Text</a>

अपने ब्लॉग के लिए बैकलिंक कैसे बनाएं 

जब भी कोई नया ब्लॉगर ब्लॉगिंग के क्षेत्र में आता है तो उसके मन में Blacklink कैसे बनाएं इस विषय को लेकर हमेशा उलझन बनी रहती है Blacklink बनाकर आप अपने ब्लॉग को गूगल सर्च इंजन पर रैंक करा सकते हैं आप जितने चाहे उतने Blacklink बना हैं आपको हमेशा quality website से बैकलिंक बनाएं तभी आप को फायदा मिलेगा अगर आप quality website से बैकलिंक नही बनेंगे तो आपको उस बैकलिंक का कोई फायदा नहीं मिलेगा और हो सकता है कि गूगल आपके ब्लॉग को आगे जाकर penalise भी कर सकता हैं

Balicklink कैसे बनाये  इसके बारे में हमने आपको नीचे संपूर्ण जानकारी दे रखी है आप उन्हें पढ़कर balicklink बना सकें 

1: Quality content लिखें अपनी ब्लॉग में

अपने ब्लॉग में लिए बैकलिंक पाने का ये सबसे अच्छा तरीका हैं आप अपने ब्लॉग में Quality content लिखे और जो visitors आपके contect पढेगा तो उसे कुछ सीखने को मिलेगा और वह अधिक से अधिक लोगों तक आपके content को शेयर करेगा जिस कारण से आपके वेबसाइट में अधिक ट्राफिक आने लग जाएगा और बहुत बहुत ही जल्द आपकी बेवसाइट गूगल में रैंक करने लग जाएगी ।

2: Guest blogging करें

आजकल के वक्त में ब्लॉगिंग की दुनिया में guest blogging की लोकप्रियता बहुत तेजी से बढ़ रही हैं Guest blogging  का अर्थ है  कि किसी लोकप्रिय ब्लॉग में अपनी ब्लॉग की आर्टिकल summit  करके अपने ब्लॉग में ट्राफिक बढ़ाने का सबसे अच्छा माध्यम है guest Blacklink की सहायता से अपको अच्छा balicklink प्राप्त होगा

3: comment करना शुरू कर दे

अपने ब्लॉग के niches से संबंधित दूसरे ब्लॉग में कमेंट करना शुरू कर दे जिससे आपको Nofollow balicklink मिलता है लेकिन जब भी आप दूसरे ब्लॉग में कमेंट कर रहे हो तो कमेंट अपने ब्लॉग का URL डालना ना भूले ऐसा करने पर आपको अच्छे Blacklink प्राप्त होते हैं और आपके ब्लॉग में ट्रैफिक आने लग जाता है और धीरे-धीरे आपका ब्लॉग गूगल सर्च इंजन में रैंक करने लग जाता है

इस आर्टिकल पर मेरी राय

इस आर्टिकल में हमने आपको Blacklink से संबंधित संपूर्ण जानकारी दी  । उम्मीद करते हैं कि आपको इस आर्टिकल  दी गई जानकारी अच्छे से समझ में आ गई होगी कि आपके पास भी सवाल कोई सवाल है तो आप कमेंट करके पूछ सकते हैं और इस आर्टिकल को अधिक से अधिक लोगों तक शेयर करें । हमें कमेंट करके बताएं आपको यह आर्टिकल कैसा लगा ..